घर पर कानों को साफ़ करने के उपाय





घर पर कानों को साफ़ करने के उपाय




खुद की देखभाल और साफ़ सफाई करने की दिशा में एक कदम कानों को साफ़ करना भी है। हम आमतौर पर कानों के अंदर जमे मैल को निकालने की काफी कोशिश करते हैं। कानों का मोम एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो कि किसी भी प्रकार की गन्दगी, बैक्टीरिया या धुल के छोटे छोटे कणों से कान के संवेदनशील हिस्सों को बचाने के लिए कान द्वारा ही उत्पन्न किया जाता है। काफी कम लोग ही कान के इस मोम को सही प्रकार से कान में से निकालने का तरीका जानते हैं। क्योंकि कान का हर हिस्सा काफी मुलायम एवं नाज़ुक होता है, अतः कान के इस हिस्से को स्क्रब करना काफी मुश्किल होता है। अगर आप अपने कानों को साफ़ नहीं करते हैं तो आपके कान का भीतरी भाग दर्द करने लगता है और कई बार तो आपको कान का संक्रमण भी हो सकता है। कई घरों में कान साफ़ करने के लिए सरसों का तेल कान में डाला जाता है। यह कानों को साफ़ करने का काफी जोखिम भरा और अस्वास्थ्यकर उपचार है। अगर आपको कान साफ़ करने के सही उपचारों के बारे में जानना है तो आगे पढ़ते रहिये।

कान को साफ़ करने के स्वास्थ्यकर नुस्खे

पानी

जब हम नहाते हैं तो पानी के प्रयोग से तरोताज़ा महसूस करते हैं। यह आपके कानों को साफ़ करने का भी काफी प्रभावी तरीका है। अपने कानो को साफ़ करने से पहले पानी में पेरोक्साइड की दो बूँदें डालें। अगर आपके कान पानी की वजह से दर्द कर रहे हैं तो अपने कान में पानी ना जाने दें। किसी स्वास्थ्य विशेषज्ञ से संपर्क करें। कई लोगों को काफी ठन्डे पानी की वजह से सिर घूमने की तथा कान में दर्द होने की समस्या होती है।

गीले कपडे का टुकड़ा

किसी प्रकार का गीला कपड़ा आपके पास होने से आप कानों के बाहरी हाग से कान का मोम निकाल सकते हैं। कई ENT डॉक्टरों के मुताबिक़ कानों के बिलकुल अंदर से मोम निकालने की कोशिश करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। जो माँ कान के बाहरी हिस्से में होती है उसे ही निकालने का प्रयास करें। अपने गीले कपडे को मोड़ें और उसे कान के अंदर धीरे धीरे ले जाकर कान के बाहरी भाग से गन्दगी निकालने की प्रक्रिया पूरी करें।

गर्म तेल

एक सीरिंज की मदद से २ से ३ बूँद गर्म तेल सीधे अपने कान के अंदर डालें। यह प्रक्रिया सोने से पहले पूरी करें। सुबह उठते ही कानों को एक गीले कपडे से तथा ईयरबड से अच्छे से साफ़ कर लें। अगर आपके पास किसी भी प्रकार की सीरिंज नहीं है तो कानों में हलके से तेल डालें। उसके बाद किसी पतले सूती के कपडे से साफ कर लें।

ईयरबड

कानों को साफ़ करने का यह सबसे आम और जाना माना तरीका है। परन्तु ईयरबड को कानों के बिलकुल अंदरूनी भागों में ले जाते समय सावधान रहे। इससे आप कानों के अंदर की मोम को बाहर लाने की जगह और अंदर ही धकेलने में सफल होंगे। ईयरबड का प्रयोग करते समय काफी प्यार तथा सावधानी से काम लें। थोड़ी सी चूक से ही आपको काफी ख़तरा हो सकता है और इससे आपके सुनने की क्षमता में भी कमी आ सकती है। सावधानी से रहने के लिए कान के बिलकुल अंदर तक ईयरबड को ना लेकर जाएं बल्कि इसे बाहर की तरफ से साफ़ करें। ये आमतौर पर सही प्रकार से कान साफ़ करने के कुछ तरीके हैं।

सिर्फ तभी अपने कानों को अंदर तक साफ़ करें जब आपको खुजली महसूस हो रही हो या फिर आपको काफी कम सुनाई दे रहा हो। रोज़ाना कानों को साफ़ करने की आदत ना डालें क्योंकि इससे कानों को नुकसान भी हो सकता है। कानों के हेडसेट कानों को बैक्टीरिया और अन्य जीवाणुओं से बचाते हैं। अगर आप खुद से कानों को साफ़ करने में असमर्थ साबित हो रहे हैं तो आज ही किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *