विटामिन मानव शरीर के संपूर्ण स्वास्थ्य के साथ-साथ बालों के विकास के लिए भी जरुरी है। बाल शरीर का ही हिस्सा हैं, इसलिए शरीर में जब विटामिन और मिनरल का संतुलन उचित मात्रा में रहेगा तभी हमारे बाल हेल्दी और शाइनिंग रहेंगे।

बालों के झड़ने-गिरने, असमय सफेद होने, गंजापन से लेकर अन्य सभी तरह की समस्याओं की जड़ बालों का स्वास्थ्य है। बालों की सेहत और बालों का बढ़ना तीन कारकों पर निर्भर करता है- आपके जींस, बालों की देखभाल का आपका रुटीन और आपका खान-पान। हम अपने जींस को तो नहीं बदल सकते मगर हम अपने बालों के देखभाल के तरीके और खान-पान की आदतों में बदलाव कर बालों की सेहत को बना सकते हैं।

वास्तव में बालों की लंबाई नहीं बढ़ने की परेशानी की बड़ी वजह बालों की उचित देखभाल न हो पाना और कुपोषण है। इन दोनों समस्याओं का समाधान कुदरती तरीके से ही किया जा सकता है।

अगर आनुवांशिक कारणों से बाल झड़ या गिर रहे हैं या फिर थायराइड की शिकायत है तो भी चिंता करने की जरुरत नहीं है। प्रकृति में हर समस्या का इलाज़ है।

बालों की लंबाई बढ़ाने के लिए जरुरी विटामिन (Vitamins for Hair Growth)

बालों की लंबाई बढ़ाने में विटामिन सी, विटामिन बी ग्रुप के बायोटिन (विटामिन बी-7 और विटामिन एच) और नियासिन (विटामिन बी-3) सबसे ज्यादा असरदार होते हैं।

बालों को उचित पोषण आपके खान-पान में उपर बताए गए विटामिनों को शामिल करने से ही मिलता है। आपके खान-पान की आदतों में अगर संतुलित आहार के साथ उपर बताए गए विटामिन की खुराक है तो आपके बाल तेजी से बढ़ सकते हैं।

बायोटिन का बालों पर असर (Effect of Vitamin B7 or Vitamin H on Hair)

बायोटिन विटामिन बी कॉम्पलेक्स (Vitamin B Complex) है जिसे विटामिन बी-7 और विटामिन-एच भी कहा जाता है। यह हमारी आंतों में बनता है और कुदरती रुप से हरी सब्जी-साग, बादाम और अंडों में पाया जाता है।

बायोटिन की कमी से बालों का झड़ना-टूटना शुरु हो जाता है। भोजन के अलावा अलग से बायोटिन सप्लीमेंट के रुप में लेने से बालों की जड़ों (Hair Follicle) को को पोषण मिलता है और बालों की लंबाई बढ़ती है। बाल काले-घने और लंबे होते हैं। बायोटिन लेने से शरीर में फैटी एसिड (Fatty Acid) भी बनता है और बालों की जड़ों में कोशिकाओं का निर्माण होता है।

विटामिन सी का बालों पर असर (Effect of Vitamin C on Hair)

विटामिन सी पानी में घुलनशील होता है और इसमें काफी मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंटट पाए जाते हैं। विटामिन सी एक जरूरी प्रोटीन कोलाजेन (collagen) का निर्माण करता है, जिससे शरीर का एक तिहाई हिस्सा त्वचा, बाल और अस्थियां और स्नायु तंत्र बनी होती है।

विटामिन सी में एंटी ऑक्सीडेंट होने के कारण यह कई फ्री रेडिकल्स को नष्ट होने से भी बचाता है। फ्री रेडिकल्स बालों को नष्ट करता है, शरीर के उत्तकों को नष्ट करता है। बालों का बेजान होना, दो मुंहे बाल और बालों के टूटने की बड़ी वजह विटामिन सी की कमी ही है। विटामिन सी संतरे, मौसमी, नींबू समेत कई रसदार फलों में पाया जाता है।

गंजापन से बचने के लिए विटामिन (Vitamins to Prevent Baldness)

बालों के टूटने, झड़ने और गिरने (Hair Loss) को कम करने में विटामिन सी, अलसी के बीज, समुद्री मछली के प्रोटीन और जिंक का सेवन करना काफी असरदार होता है। इन विटामिन के सेवन से गंजे सिर पर बाल उगने लगते हैं।

पुरुषों में गंजापन एंड्रोजेन हार्मोन (Dihydrotestosterone-DHT) की वजह से होता है। केश कूप यानि बालों की जड़ों को पोषण नहीं मिलने से गंजेपन की शिकायत आती है। ऐसी परिस्थिति में पुरुषों को संतुलित भोजन के अलावा विटामिन सी और अन्य पोषक तत्वों को सप्लीमेंट के रुप में लेना चाहिए।

लंबे एवं घने बालों के लिए विटामिन (Vitamin for Long and Thick Hair)

विटामिन ई (Vitamin E)

बाजार में बिकने वाले अधिकांश हेयर ऑयल में विटामिन ई होने का दावा किया जाता है। इसमें कितनी सच्चाई है यह तो शोध का विषय है। मगर आप यदि अपने भोजन में विटामिन ई ले रहे हैं तो आपके बालों की तो सेहत बनेगी ही साथ में बाल काले घने और लंबे भी होंगे। यह बालों की जड़ और स्कैलप को मजबूती देता है। विटामिन ई बादाम, एवाकोडो, पालक, सूर्यमुखी के तेल और शेलफिश में पाया जाता है।

विटामिन डी (Vitamin D)

विटामिन डी भी बालों की जड़ों को पोषण देता है और बालों को बढ़ने में मदद करता है। सर्दी के महीने में अगर आप धूप सेंके तो आपके शरीर को अच्छी मात्रा में विटामिन डी मिलेगी।

नोट: ध्यान रहे भोजन के अलावा विटामिन अलग से सप्लीमेंट के रुप में बिना डॉक्टरी सलाह के न लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *